सोमवार, मई 09, 2005

फ़ोलियो

सपना
08/05/2005
फ़ोलियो
फ़ोलियो

मेरा नाम मिकेला दानलीहै। मैं बाईस साल की है, लेकिन सत्रह दिन में मैं तेईस साल की होगी। मेरा एक भाई और एक बहन है। मै सब से छोटा है और मेरा भाई सब से बाड़ा है। उसका नाम झाश है, और वह कम्प्यटूर प्रोग्रामर है। मेरी बहन एक वकिल दो साल में होगी। अब वह स्कूल में है। दो साल के पहले मेरा भाई अपनी प्रेमी निकोल से शादी किया था। मुझे अपनी भाभी से प्यार है। वह बहुत अच्छी औरत है। मुझे आशा है कि जल्दी उनके बच्चेहो, क्योंकि मैं एक चाची होना चाहती हूँ। मगर हो सकता है कि ये तेयार नहीं हैं, लेकिन यह कोई बात नहीं है। मेरा मा-बाप वाशिंगटन ड.सी. में रहते हैं। मेरे बाप वायु सेना में है। वे एक वकील है। मेरी मा एक नर्स बच्चे के लि ये है। मेरे जीवन में एक और ज़रुरी लोग है, और वह मित्सी है, मेरी बिल्ली। वह बहुत सुनदर है।
मै छै देश में रही थी। मेरे बचपन के दौरान मेरा परिवार हर दो साल हटाया, और मैं तीन अलग अलग हाई स्कूल्स को तीन अलग अलग देश में गयी। कभी कभी यव बहुत मुश्किल था। जब मैं कालेज को गयी, तब मुझे आशा था कि मैं चार साल के लिये एक जगह में रहूँगी। मगर हो सकता है कि यह सम्भव नहीं था। इस की वजाय मैं तीन कालेज गयी, और चार जगह में रही। न जाने क्यों मेरा जीवन एसा यह है।
अब मुझे मालूम नहीं है। पांच महिने में मैं कहाँ रहूँगी? मुझे आशा है कि मैं बम्बाई रह रही होगी, लेकिन पता नहीं। अगर मैं बम्बाई रहूँ, तो मेरी हिनदी बहुत अच्छी होगी। तो, अगले फ़ाल मुझे आशा है कि मैं graduate स्कूल जाऊँ। मैं झोर्झतौन, कोलम्बीया, या जान हाप्किन्स को जाना चाहती हूँ। सब स्कूल्स ईस्ट कोस्ट में है, जिस मेरा परिवार के पास है। अंत में मैं फ़ारिन सर्विस के लिये काम करूँगी। बस।

रविवार, मई 01, 2005

एरबिक या तेलगु या . . . ?

प्रिया लोग, मुझे आप का सलाह चहिए। अगले सल में मैं सातवां समेस्तर हिन्दी पढ़ूँगी और एक और भाषा सिखूँगी। लेकिन क्या भाषा? बहुँत अच्छा बात है कि UW बहुत एस्यन भाषाओं का क्लास देते हैं , लेकिन जब बहुँत चुनाव हैं तब मेरा लिए थोरा कठिनता है। मैं कालग या विश्वविधालय या कमीयुनीती कालग पढ़ाना चहती हूँ तो आप को लगता है कि “जाब सिर्च” के लिए एरबिक बोलने विधे, तामिल या तेलगु बोलने विधे से अच्छा है? माफ़ किजिए अगर पहला वाक्य अबोधय/ ‘ईनकामप्रेहेन्सबल’ होगा। मैं कल और लिखूँगी। P.S., मैं ‘दफ़ेंस दीपार्तमन्त’ के लिए कभी नहीं काम करूँगी!